Skip to content Skip to navigation

अखिल भारतीय युवा कोली/कोरी समाज (regd.) की राजस्थान इकाई के द्वारा अति विशाल कार्यक्रम सफल

x

Error message

  • The file could not be created.
  • The file could not be created.

भारतीय युवा कोली/कोरी समाज  (regd.) की राजस्थान इकाई के द्वारा रक्त-दान , नेत्र-दान ,देह्दान , राजस्थानी लोक कला व बुजुर्गों के सम्मान का अति विशाल कार्यक्रम सफल

प्यारे मित्रों , सादर नमो बुद्धाय !

अखिल भारतीय युवा कोली/कोरी समाज  (regd.) के राजस्थान इकाई के अध्यक्ष श्री प्रवीण शुभम जी ने  27 मार्च , 2011 को धौला भाटा अजमेर मे रक्त-दान , नेत्र-दान ,देह्दानबुजुर्गों के सम्मान का अति विशाल कार्यक्रम रखा था ! इस पुण्य कार्यक्रम मे कोली कर्मचारी संघ व श्रीमती लक्ष्मी देवी हाडा चेरिटेबल ट्रस्ट ने भी सहयोग दिया व मिलकर इस कार्यक्रम को सफल बनाने मे पूरा सहयोग किया ! कार्यक्रम संत जोज़फ़ बाल निकेतन सीनियर सेकेंडरी स्कूल, धोला भाटा, अजमेर  मे आयोजित किया गया थास्कूल के प्रिन्सिपल श्री राजेश बेप्टिस्ट जीउनके परिवार और स्कूल के स्काउट्स का कार्यक्रम की सफलता मे बहुत बड़ा योगदान था ! श्रीमती लक्ष्मी देवी हाडा चेरिटेबल ट्रस्ट के ट्रस्टी डा. प्रियशील हाडा जी की अनुपस्थिति मे आपके पिता श्री विश्वजीत हाडा साहब व भाई एडवोकट श्री राजेंद्र हाडाउनकी पत्नी श्रीमती चाँदनी हाडा जी ने भी बड़ी संख्या मे लोगों को लाकर अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई ! मेरे साथ दिल्ली से राष्ट्रीय कोषाधायक्ष श्री मोहन लाल जी कोली, दिल्ली इकाई सचिव श्री गगन कोली, सोनू कोली,रजीत सिंह कोली, कमल कोली भी थे, कार्यक्रम स्थल पन्हुंचने पर हमारा बड़ी गर्मजोशी से स्वागत किया गया !  रक्तदान का कार्यक्रमसुबह 9 बजे से ही शुरू हो गया था ! लंच के पश्चात मंच के कार्यक्रम शुरू हुए ! पाँच लोगों ने देह्दान व 18 लोगों ने नेत्र-दान का संकल्प लिया ! इस अवसर पर मैने भी रक्तदान किया , इससे पहले मैं 36 बार रक्तदान कर चुका हूँ  ! प्रेमवश मुझे ही मुख्य-अतिथि बनाया गया था ! मेरे द्वारा  भगवान बुध जी की तस्वीर के आगे दीप प्रज्वलीत कर कार्यक्रम की विधिवत शुरूवात की गई ! सर्वप्रथम भगवान बुध जी स्तुति की गई ! तत्पश्चात बुजुर्गों के सम्मान का कार्यक्रम आरंभ हुआ ! सभी बुजुर्गों को राजस्थानी साफ़ा पहनाकर, फूलमालाओं द्वारा स्वागत किया गया ! इस अवसर पर संस्था की ओर से एक स्मृति चिन्ह व प्रशस्ती पत्र भी भेंट किया गया ! सभी बुजुर्गों ने माइक पर खुलकर इस अवसर पर मेरी , मेरे प्रदेश अध्यक्ष  के कार्यों की खुलकर तारीफ़ की व समाजसेवा मे आगे बढ़ते रहने कीसमाज का नाम उँचा करने आशीष दी ! कुल 36 बुजुर्गों का सम्मान किया गया !

राजस्थानी लोक कला-संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए समाज के बच्चों ने ठेत राजस्थानी गीतों पर नृत्य प्रस्तुत कर समाँ बाँधा व सभी का मन जीत लिया ! इस अवसर पर संस्था की राजस्थानी इकाई के सभी जिलों से आए सभी जिलाध्यक्षों, पदाधिकारियों, स्काउट्स को भी स्मृति चिन्ह भेंट कर मैने  सम्मानित किया ! अंत में मुझे संबोधन के लिए आमंत्रित किया गया ! मैने सभी को एकजुट होकर किसी भी अत्याचार के खिलाफ लड़ने के लिए प्रेरित किया ! राजस्थान में सभी जिलों में इकाइयाँ पूरी कर ग़रीब समiज़बंधुओं के लिए काम करने का आदेश भी दिया , जिसको सभी ने पूरी गंभीरता से पूरा करने का आश्वासन भी दिया ! राजस्थान इकाई के अध्यक्ष श्री प्रवीण शुभम जी ने  दूर-दूर से आए हुए सभी समाज़बंधुओं का धन्यवाद किया व मुझे भी ये आश्वासन दिया की मेरे कहे अनुसार ही कार्य होगा व मई 2011 मे अजमेर या जयपुर में राजस्थान की कार्यकारिणी की बैठक की जाएगी ! इसके बाद कार्यक्रम सफलतापूर्वक 5 बजे संपन्न हुआ  इस उत्सव को सफल बनाने में जिन समाज़बंधुओं का हाथ है उनमें से प्रमुख है ,  ड़ा . G.S. बुंदेला (प्रांतीय उपाध्यक्ष ),  अरुणशुभम,  नानक राम( jaipur),  परमानंद  ,कैलाश चंद महावर (पार्षद),  मोहन राजोरिया, नरेश सत्यवाना,  मुकेश राठौर,  कुशुम लता घरवाल,  कमल कोली,  शोभा राम गहरवाल (फ्रीडम फाइटर),  नारायण सिंह राठौर, ठाकुर प्रषाद कोली, कामिनी महावर,  पप्पू लाल कोलीराजेश कुमार, हेमंत साकल! , राम बाबू शुभम, चंदर सिंह पहलवान, विरेन्द्र ख़ातूमरा ,मुरली धर कोली,  मुकेश,  तृप्ति बूंदल,  अर्जुन सिंह राठौर , विक्रम सिंह हाडा,  युवराज, मदन सिंह चोहान  एडवोकेट राजेंद्र हाडाश्रीमती चाँदनी हाडा  इत्यादि ! 

शाम के चाय-नाश्ते के बाद पुनः 6:30 बजे अजमेर व निकटवर्ती स्थानों से आए कार्यकर्ताओं से परिचय का कार्यक्रम प्रारंभ हुआ जिसमे लगभग 150 बंधु शामिल हुए ! अंत में रात्रिभोज का सभी ने आनंद लिया व कोली/कोरी समाज जिंदाबाद के उद्घोषों के बाद सभी को  राजस्थान इकाई के अध्यक्ष श्री प्रवीण शुभम जी ने  विदाई दी