Skip to content Skip to navigation

कोली समाज द्वारा दिल्ली के एतिहासिक जंतर-मंतर पर मायावती के खिलाफ उग्र धरने का सफल आयोजन dt 15.03.2011

x

Error message

  • The file could not be created.
  • The file could not be created.

अखिल भारतीय युवा कोली / कोरी समाज ( regd.) द्वारा मंगलवार, 15 मार्च 2011, प्रातः 10:00 बजे को संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष इंजी. खेमचंद कोली जी के नेतृत्व में दिल्ली के एतिहासिक जंतर-मंतर पर एक धरने का आयोजन किया गया , जिसमे की उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती द्वारा कोरी समाज पर किए जा रहे अत्याचारों का भंडाफोड़ किया गया  ! ग्यात रहे की उत्तर प्रदेश में कोली समाज को अनुसूचित जाति की श्रेणी मे मान्यता प्राप्त नहीं है जबकि प्रदेश सरकार भी जानती है कि कोली जाति कोरी जाति का पर्यायवाची शब्द है और दोनों की सभ्यता-संस्कृति एक ही है ! इसके अलावा आगरा , सहारनपुर और मेरठ मंडल से कोरी समाज को उत्तर प्रदेश की अधिकारिक सूची से अनुसूचित जाति की श्रेणी से निकाल दिए व पुनः वापस लिए जाने का जाने का प्रचंड विरोध किया गया  !  धरने में समाज के सांसद श्री विरेन्द्र कश्यप जी ( शिमला-हिमाचल प्रदेश, भा..पा. ) सांसद श्री घनश्याम अनुरागी जी (जालोन-उत्तर प्रदेश , ..) ने भाग लिया ! उपरोक्त सांसदों ने संसद में उक्त समस्या को निवारण हेतु  भी उठाया ! बाद में दोनो सदनों में विधेयक पास करवा कर क़ानून बनवा दिया जाएगा जिससे की उत्तर प्रदेश में रहने वाले करोड़ो कोरी समाज के लोगों को उनका बुनियादी हक़ पुनः दिलवाया जा सके  समाज की तरक्की हो सके ! इस धरने में उत्तर प्रदेश से लगभग 10000 लोगों ने भाग लिया !

दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष श्री प्रेम कुमार विद्यार्थी    उत्तर प्रदेश अध्यक्ष श्री के. पी. शील दिल्ली प्रदेश महिला मोर्चे की अध्यक्षा श्रीमती चित्रा विद्यार्थी जी के अथक प्रयासो से धारणा अत्यंत सफल रहा ! लोगों ने हाथों मे मायावती विरोधी तख्तियाँ उठा रखी थी ! धरना तीन माँगों को ले कर रखा गया था जो इस प्रकार है :

1) कोली समाज को भी कोरी के साथ उत्तर प्रदेश की अधिकारिक अनूसूचित जाति की सूची में जोड़ा जाए !

) हापुड़ , गढ़ , मोदिनगर जैसी तहसीलो में जहाँ कि कोरी समाज को भी अनूसूचित जाति का प्रमाण पत्र नहीं दिया जा रहा है वहाँ    तुरंत प्रभाव से अनूसूचित जाति का प्रमाण जारी किया जाए !

3) बुनकर बंधुओं कि समस्याओं के निदान समाधान हेतु बुनकर आयोग का गठन किया जाए !

    महामहिम राष्ट्रपति , प्रधान मंत्री ग्रह मंत्री जी को भी समस्याओं के निदान समाधान हेतु ग्यापन सोन्पा गया !संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष इंजी. खेमचंद कोली जी ने अपने भाषण के दौरान सभी को एकजुट होकर माया सरकार को 2012 में उत्तर प्रदेश में होनेवाले विधान सभा चुनाव में हरवाने के लिए प्रेरित किया और ये भी कहा की उत्तर प्रदेश में अगर कोरी अन्य दलित समाज अगर मायावती को वोट दे तो मायावती कभी भी सरकार नहीं बना सकती मुख्य मंत्री नहीं बन सकती !   कार्यक्रम के अंत में मायावती का पुतला भी फूँका गया !